Blog

शनि का कुंडली में प्रभाव

शनि का कुंडली मेंप्रभाव पहला घर सूर्य और मंगल ग्रह से प्रभावित होता है। पहले घर में शनितभी अच्छे परिणाम देगा जब तीसरे, सातवें या दसवें घर में शनि केशत्रु ग्रह न हों। यदि, बुध या शुक्र, राहू या केतू, …

कुंडली में मंगल का प्रत्येक भवन में

कुंडली में मंगल काप्रत्येक भवन मेंप्रभाव (प्रथम) में मंगल हो तो जातक क्रूर, साहसी, चपल, महत्वाकांक्षीएवं व्रणजन्य कष्ट से युक्त एवं व्यवसाय में हानि होती है। 2. दूसरेभाव में मंगल हो तो कटुभाषी, धनहीन, पशुपालक, धर्मप्रेमी, नेत्रएवं कर्ण रोगी होता है। …

ग्रह योग और फलित

कुण्डली के प्रत्येक भाव अपनी अपनी दृष्टि से महत्वपूर्ण हैं और इन्ही द्वादश भावों में स्थित ग्रहों के शुभ या अशुभ स्थिति से मनुष्य अपने जीवन काल में सुख और दुःख का सामना करता रहता है ग्रहों की युति ,दृष्टि के …

karmkand

हर विधि का एक विधान होता है। यदि कर्मकांड को उचित विधि से किया जाए तो ही उसका सही फल प्राप्त होता है। तो आइए जानते हैं कि श्राद्ध कर्म की उचित शास्त्रोक्त विधि के बारे में विस्तार से…श्राद्ध कर्म …

कम खर्चकम खर्च में सजावट

कम खर्चकम खर्च में सजावट 1. अगर बजट बहुत ही कम है तो घबराए नहीं, परदे या कुशन को कम रेंज वाले प्लेन रंगों में भी खरीद सकती हैं। और अगर आप इससे संतुष्ट नहीं है तो घर लाकर उन …

यश-कीर्ति, पद-प्रतिष्ठा पदोन्नति के लिए

यश-कीर्ति, -प्रतिष्ठा पदोन्नति के लिए वैदिक युग से भगवान सूर्य की उपासना का उल्लेख मिलता हैं। हमारे ऋषियों ने उदय होते हुए सूर्य को ज्ञान रूप ईश्वर स्वीकारते हुए सूर्योपसना का निर्देश दिया हैं। प्रतिदिन सुबह सूर्य देवता की पूजा …

प्रश्न ज्योतिष में संतान योग (Santan Yogas In Prashna Astrology)

गृहस्थ जीवन की फुलवारी में बच्चे फूल के समान होते हैं. ज्योतिषशास्त्र के अनुसार जब उचित योग बनता है जब संतान प्राप्ति की संभावनायें अधिक होतीं है. पति पत्नी अगर संतान के इच्छुक हैं और उन्हें यह सुख नहीं मिल …

होटल प्रबन्धन में सफलता के लिये ज्योतिष योग (Astrology & Success in Hotel Management

होटल प्रबन्धन एक आकर्षक कैरियर है. यदि आप होटल प्रबन्धन के क्षेत्र में अपना करियर बनाना चाहते हैं तो देखिये कि कौन से ज्योतिष योग आपको इस व्यवसाय अथवा इस क्षेत्र में सफलता दिला सकते हैं. 1. आवश्यक भाव: – …

जिन जातको की जन्मपत्रिका नहीं बनी होती

Back जिन जातको की जन्मपत्रिका नहीं बनी होती ज्योतिष शास्त्र में किसी भी ग्रह का शुभ अथवा अशुभ प्रभाव जन्मकुंडली पर र्निभर करता है। कुंडली में ग्रह दोष हो तो जिन्दगी में अनेक समस्याओं का सामना करना पड़ता है। जिन …

प्रेम विवाह – Love Marriage analysis through the Birth Chart

प्रेम विवाह करने वाले लडके व लडकियों को एक-दुसरे को समझने के अधिक अवसर प्राप्त होते है. इसके फलस्वरुप दोनों एक-दूसरे की रुचि, स्वभाव व पसन्द-नापसन्द को अधिक कुशलता से समझ पाते है. प्रेम विवाह करने वाले वर-वधू भावनाओ व …