आपकी जन्म अथवा नाम राशि के अनुकूल रंग

रंगों का हमारे जीवन में बहुत महत्त्व है। हम अपने चारों ओर के  अनेक  रंगों से प्रभावित होते हैं। मूल रूप से इन्द्रधनुष  के सात रंगों को ही रंगों का जनक माना जाता है, ये सात रंग लाल, नारंगी, पीला, हरा, आसमानी, नीला तथा बैंगनी हैं। रंगों की उत्पत्ति का  प्राकृतिक स्रोत सूर्य का प्रकाश है|  प्रकृति की सुन्दरता अवर्णनीय है और Read more…

शनि ग्रह पुराणों व ज्योतिष शास्त्र में

शनि की उत्पत्ति का पौराणिक वृत्तांत महर्षि  कश्यप का विवाह प्रजापति दक्ष की कन्या अदिति से हुआ जिसके गर्भ से विवस्वान (सूर्य ) का जन्म हुआ | सूर्य का विवाह त्वष्टा की पुत्री संज्ञा से हुआ | सूर्य व संज्ञा के संयोग से वैवस्वत मनु व यम दो पुत्र तथा Read more…

आपकी जन्म कुंडली एवम संतान सुख

                      जन्म कुंडली से संतान सुख का विचार स्त्री और पुरुष संतान प्राप्ति की कामना के लिए विवाह करते हैं | वंश परंपरा की वृद्धि के लिए एवम परमात्मा को श्रृष्टि रचना में सहयोग देने के लिए यह आवश्यक भी है | Read more…

सत्यनारायण व्रत कथा

पहला अध्याय :श्रीव्यास जी ने कहा – एक बार नैमिषारण्य तीर्थ में शौनक आदि ऋषियों ने पुराणशास्त्र के वेत्ता श्रीसूत जी महाराज से पूछा – महामुने! किस व्रत अथवा तपस्या से मनोवांछित फल प्राप्त होता है, उसे हम सब सुनना चाहते हैं, आप कहें.श्री सूतजी बोले – नारदजी के द्वारा Read more…